DM साहब ठिठक जाते हैं वे बूढी महिला के बगल में उन्ही सीढ़ियों पर बैठ जाते हैं

Spread the love

डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट अभी अभी दफ्तर पहुंचे हैं !
मजिस्ट्रेट साहब गाड़ी से उतरकर जो सीढ़ियां चढ़ रहे हैं, उन्हीं सीढ़ियों पर एक बुढी महिला हाथ जोड़े बैठी हैं !

DM साहब ठिठक जाते हैं !
अर्दली से कुछ पूछते हैं !
अर्दली के पास कोई अपडेट नहीं है !

वे बूढी महिला के बगल में उन्ही सीढ़ियों पर बैठ जाते हैं !

DM जहाँ बैठ गए, समझो वही अदालत शुरू हो गयी !

अदालत सज गयी और वहीं के वहीं कार्यवाही शुरू कर दी गयी !

फरियादी बुढ़िया की पेंशन दो सालों से नहीं मिल रही !
मजिस्ट्रेट साहब कागजात मांगते हैं !
बुढ़िया एक एक कर सारे कागजात दे देती है !

और साथ में देती है….ढेर सारी शिकायतें !

अफसरों-बाबुओं की शिकायतें !

मजिस्ट्रेट ने देखा कागजात पूरे हैं ! बुढ़िया को आश्वासन दिया गया कि वे ठहरें !
उनका काम आज ही होगा !

मजिस्ट्रेट ने सम्बंधित अफसर को तुरंत हाजिर होने का फरमान सुनाया !

अफसर अदालत में हाजिर हुआ! उन्ही सीढ़ियों पर सजी अदालत में !
और बुढ़िया की पेंशन तत्काल प्रभाव से लागू की गयी !

इसके साथ ही अदालत की कार्यवाही खत्म हुई !

DM का नाम है- अब्दुल अजीम, IAS !
भुवनपल्ली, तेलंगाना

ऐसे अफसर को क्विंटल के हिसाब से सेल्यूट रहेगा!

Credit-कपिल देव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *