हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों में कोविड-19 के नियमों का पालन कराने के लिए पुलिस अधीक्षक को निर्देश तथा मुख्य चिकित्साधिकारी कन्टेनमेंट ऐरियों की निगरानी के लिए सर्विलांस कमेटियों का गठन कर उन्हें तत्काल क्रियाशील करे ज़िलाधिकारी बिजनौर

Spread the love

*DM MEDIA WAR ROOM, BIJNOR*

🎄🎄🎄🎄🎄🎄🎄
*हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों में कोविड-19 के नियमों का पालन कराने के लिए पुलिस अधीक्षक को निर्देश तथा मुख्य चिकित्साधिकारी कन्टेनमेंट ऐरियों की निगरानी के लिए सर्विलांस कमेटियों का गठन कर उन्हें तत्काल क्रियाशील प्रत्येक टीम में राजस्व कर्मी, पंचायत सचिव तथा स्वास्थ्य विभाग की एएनएम, आशाओं तथा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को शामिल करें-जिलाधिकारी रमाकांत पांडेय*

जिलाधिकारी रमाकांत पाण्डेय ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि जिले के सभी हाॅटस्पाॅट ऐरियों की समुचित निगरानी तथा वहां के लोगों को कोविड-19 के नियमों का पालन सुनिश्चित कराने के लिए सर्विलांस कमेटियों का गठन कर उन्हें तत्काल क्रियाशील बनाएं तथा संबंधित उपजिलाधिकारियों से सम्पर्क कर प्रत्येक टीम में राजस्व कर्मी, पंचायत सचिव तथा स्वास्थ्य विभाग की एएनएम, आशाओं तथा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को शामिल करें। उन्होंने बताया कि हाॅट स्पाॅट क्षेत्रों में कोविड-19 के नियमों का पालन कराने के लिए उनके द्वारा पुलिस अधीक्षक को भी निर्देशित किया गया है। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को यह भी निर्देश दिए कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव तथा उससे संबधित जरूरी जानकारी उपलब्ध कराने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में बाईकिंग द्वारा जन जागरूकता सुनिश्चित करने की कार्यवाही करें।
जिलाधिकारी श्री पाण्डेय आज दोपहर 12ः30 बजे कलैक्ट्रेट स्थित अपने कार्यालय कक्ष में स्वास्थय विभाग के अधिकारियों के साथ आयोजित कोविड-19 से संबंधित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए निर्देश दे रहे थे।
उन्होंने कहा कि दो दिन पूर्व जिले में 25 कोरोना पाॅजेटिव मामलों का प्रकाश में आना चिंता का विषय है, जिसके नियंत्रण के लिए आवश्यक कार्यवाही की जानी जरूरी हैं। उन्होंने कहा कि हाॅटस्पाॅट बनाए क्षेत्रों में शासन द्वारा निर्गत कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षा और बचाव के लिए नियमों का सख्ती के साथ पालन किया जाना ज़रूरी है। उन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रतिनिधि डा0 ईफा गोयल को निर्देश दिए कि मुख्य चिकित्साधिकारी एवं उप जिलाधिकारियों के सहयोग से सर्विलांस समितियों का गठन कर, अपने सुपरवाईजर्स के दायित्वों का निर्धारण करते हुए उन्हें तत्काल क्रियाशील करें। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि हाॅटस्पाॅट, क्वारंटाइन सेन्टर्स और करोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वाले सभी लोगों के सैम्पिल लेकर जांच के लिए भेजना सुनिश्चित करें तथा नजला-बुखार से ग्रस्त आम लोगों के भी सेम्पिल लेकर उनकी जांच कराएं, ताकि कोरोना वायरस को नियंत्रित करने में सफलता प्राप्त हो सके।
श्री रमाकांत पाण्डेय ने समीक्षा के दौरान पाया कि वर्तमान समय में जिले में कुल कोरोना वायरस के 68 पाॅजेटिव केस हैं, जिनमें स्वाहेडी स्थित कोविड एल-1 अस्पताल में 37, टीएमयू में 28, एमसीएच मुरादाबाद, यशोदा हाॅस्पिटल तथा मथुरा में 1-1 मरीज भर्ती है। जिले में कुल 48 हाॅटस्पाॅट क्षेत्र स्थापित हैं। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में आमजन को कोरोना वायरस के प्रति सजग रहते हुए उससे बचाव एवं सुरक्षा के लिए आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराने के लिए बाईकर्स को भेजें और प्रत्येक बाईकर के लिए रूट चार्ट का निर्धारण भी सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि शासकीय एम्बुलेन्स सेवा का निर्धारित मानक के अनुसार सुदृढ़ीकरण करना सुनिश्चित करें ताकि किसी भी समय उनका प्रयोग किया जा सके।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी न्यायिक डा0 नितिन मदान, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 विजय कुमार यादव, उप मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 आशोक कुमार, डा0 बी एस रावत, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक महिला डा0 आभा वर्मा एवं पुरूष अस्पताल डा0 ज्ञान सिंह के अलावा स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद थे।

*M.ALI INFORMATION DEPTT. BIJNOR*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *