भारत और चीन के सैनिकों के बीच पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में 15 जून को हुई हिंसक झड़प से त्रस्त सतपाल महाराज ने मांगा चीनी कम्पनियों का ब्योरा

Spread the love

भारत और चीन के सैनिकों के बीच पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में 15 जून को हुई हिंसक झड़प से त्रस्त सतपाल महाराज ने मांगा चीनी कम्पनियों का ब्योरा*

देहरादून। भारत और चीन के सैनिकों के बीच पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में 15 जून को हुई हिंसक झड़प में भारतीय सेना के एक कर्नल सहित 20 सैनिकों की शहादत के बाद पूरे देश में चीन के खिलाफ लोगों में जबरदस्त गुस्सा है।
भारतीय सैनिकों की शहादत के बाद चीन को सबक सिखाने के लिए जहां एक ओर भारत सरकार राजनीतिक, कूटनीतिक और आर्थिक रूप से उसे घेरने में लगी है वहीं उत्तराखंड सरकार के पर्यटन, धर्मस्व, संस्कृति और सिंचाई मंत्री श्री सतपाल महाराज ने भी पर्यटन क्षेत्र में चल रहे ऐसे सभी कार्यों की जानकारी सचिव पर्यटन से मांगी है जिनका करार चीनी कम्पनियों से हुआ है।
उत्तराखंड के पर्यटन मंत्री श्री सतपाल महाराज ने सचिव पर्यटन श्री दिलीप जावलकर को निर्देश देते हुए कहा है कि पर्यटन के तहत जितने भी कार्यो का करार चीनी कम्पनियों से हुआ है जैसे रोपवे निर्माण आदि उन सभी का पूरा ब्योरा उनके सम्मुख रखा जाए।

*निशीथ सकलानी*
*मीडिया प्रभारी, श्री सतपाल महाराज जी, माननीय मंत्री, पर्यटन, संस्कृति, धर्मस्व एवं सिंचाई, उत्तराखंड।*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *