पाकिस्तानी गोलाबारी से एलओसी पर तनाव, कुपवाड़ा और सुंदरबनी में दो जवान शहीद, एक बीएसएफ का जवान घायल

Spread the love

पाकिस्तान ने घाटी में लगातार दूसरे दिन वीरवार को भी एलओसी पर सीजफायर का उल्लंघन किया। सीमांत जिले कुपवाड़ा, बारामुला, राजौरी में अग्रिम पोस्टों को निशाना बनाया। इस गोलीबारी में दो जवान शहीद हो गए, वहीं एक गंभीर रूप से घायल है। उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के माछिल सेक्टर में पाकिस्तानी गोलाबारी में एक जवान शहीद हो गया, वहीं राजौरी के सुंदरबनी में स्नाइपर शॉट से बीएसएफ का भी एक जवान शहीद और दूसरा घायल हो गया।

जबकि बारामुला के उड़ी सेक्टर में रातभर दागे गए गोले से एक मकान व एक शेड को नुकसान पहुंचा है। सेना ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया है। ताजा गोलाबारी से एलओसी पर तनाव है। तनाव को देखते हुए क्रॉस एलओसी ट्रेड स्थगित कर दिया गया और सामानों से भरे पाकिस्तान के 16 ट्रक लौटा दिए गए। एसडीएम उड़ी ने बताया कि क्रॉस बार्डर शेलिंग को देखते हुए ट्रेड को स्थगित किया गया है।

स्नाइपर शाट से बीएसएफ जवान शहीद, दूसरा जख्मी
पाकिस्तानी सेना के स्नाइपर शाट से सुंदरबनी सेक्टर के दादल माला क्षेत्र में बीएसएफ के दो जवान गंभीर से घायल हो गए। उन्हें हवाई मार्ग से सेना के कमान अस्पताल उधमपुर में भेजा गया, जहां इलाज के दौरान एक जवान ने दम तोड़ दिया, जबकि गंभीर रूप से घायल दूसरे जवान का उपचार चल रहा है।

सुंदरबनी सेक्टर के माला क्षेत्र की दादल पोस्ट पर वीरवार की देर शाम पाकिस्तानी सेना की ओर से दागे गए स्नाइपर शाट से सीमा पर तैनात बीएसएफ की 126वीं बटालियन के दो कांस्टेबल परमजीत विश्वास तथा मनसा राम गंभीर रूप से घायल हो गए। उधमपुर के कमान अस्पताल में इलाज के दौरान परमजीत विश्वास शहीद हो गए, जबकि मनसा राम का इलाज चल रहा है। पाकिस्तानी सेना के स्नाइपर शाट के बाद भारतीय सेना ने भी जवाबी कार्रवाई शुरू कर दी। देर रात तक दोनों तरफ से रुक-रुक कर गोलाबारी जारी थी।

बुधवार सुबह पहली बार हुए सीजफायर उल्लंघन के बाद शाम को पाकिस्तान ने गोलाबारी का जो सिलसिला शुरू किया वह रातभर जारी रहा। पाकिस्तान ने उड़ी सेक्टर में अग्रिम चौकियों और रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर मोर्टार शेल दागे गए। इसमें कमलकोटे इलाके के बर्थड कुंडी बरजाला गांव में हकीम अली मीर का रिहायशी मकान व शेड क्षतिग्रस्त हो गया। वीरवार सुबह यहां गोलाबारी थमी लेकिन दोपहर बाद दोबारा शुरू हो गई।

उड़ी के एसडीएम बशीर उल हक ने बताया कि प्रभावित परिवार को सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट कर दिया गया है। संबंधित अधिकारियों को हिदायत दी गई है कि यदि हालात बिगड़ते हैं तो वे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट कर दें। इसके साथ ही माछिल सेक्टर में सुबह पौने 11 बजे पाकिस्तान की ओर से गोले बरसाए जाने लगे। इलाके के कुमकोदी, रिंगपाइन, तांत्रे व खान बस्ती को भी निशाना बनाया गया। इस दौरान 57 राष्ट्रीय राइफल्स का एक जवान शहीद हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *