नहीं किया यह काम तो 31 अक्टूबर के बाद बंद हो जाएंगे 7 करोड़ मोबाइल नंबर

Spread the love

नई दिल्ली। रिलायंसल्लरिलायंस जियो के 2016 में टेलीकॉम की दुनिया में कदम रखने के दो साल बाद तक स्ट्रगल करने के बाद एयरसेल ने 2018 के शुरुआती दिनों में ही अपना ऑपरेशन बंद कर दिया था। बाद में एयरसेल ने ट्राई (TRAI) का दरवाजा खटखटाया और उसके यूजर्स को अडिशनल UPC (यूनिक पोर्टिंग कोड) की सुविधा दी गई, ताकि यूजर्स सर्विस का लाभ जारी रख सकें। अब ट्राई ने साफ कर दिया है कि एयरसेल यूजर्स के पास नंबर पोर्ट करने के लिए 31 अक्टूबर तक आखिरी मौका है। इसके बाद नंबर बंद हो जाएगा और वे पोर्ट भी नहीं करवा पाएंगे।

इस तरह से अगर आप एयरसेल (Aircel) और डिशनेट ( Dishnet Wireless) यूजर्स हैं तो आपका नंबर 31 अक्टूबर के बाद बंद हो जाएगा। अपने नंबर पर सेवा जारी रखने के लिए जरूरी है कि 31 अक्टूबर से पहले अपने नंबर को दूसरे नेटवर्क पर पोर्ट करवाना लाजमी हो गया है।
ट्राई की रिपोर्ट के मुताबिक, वर्तमान में करीब 70 मिलियन (7 करोड़) एयरसेल के यूजर्स हैं। अगर इन्होंने तय तारीख से पहले नंबर पोर्ट नहीं करवाया तो इनका नंबर अचानक से बंद हो जाएगा।

2018 में जब एयरसेल ने अपना ऑपरेशन बंद किया था, उस समय उसके 90 मिलियन (9 करोड़) यूजर्स थे। TRAI के डेटा के मुताबिक 28 फरवरी 2018 से 31 अगस्त 2019 के बीच केवल 19 मिलियन (1.9 करोड़) एयरसेल यूजर्स ने ही मोबाइल नंबर पॉर्टेबिलिटी (MNP) को अपनाया है। बाकी के करीब 70 मिलियन (7 करोड़) यूजर्स के पास एयरसेल का ही नंबर है, जिनके पास यह आखिरी मौका है अपने मोबाइल नंबर को बचाए रखने का।

2018 में जब एयरसेल का ऑपरेशन बंद हो गया था, उस समय कंपनी कोशिश की थी कि उसका मर्जर RCom के साथ हो जाए, लेकिन रेग्युलेटरी अप्रूवल्स की वजह से ऐसा नहीं हो पाया था। टेलिकॉम की दुनिया में कॉम्पिटिशन बढ़ जाने की वजह से बाद में आइडिया का वोडाफोन में मर्जर हो गया। जिस समय एयरसेल का संचालन बंद हुआ था उसके यूजर्स की संख्या सरकारी BSNL से से ज्यादा थी। तमिलनाडु जैसे राज्यों में यह सबसे आगे था।

एयरसेल और वायरलेस डिशनेट के कस्टमर्स आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, असम, बिहार, दिल्ली, जम्मू एंड कश्मीर, कोलकाता, मुंबई, नॉर्थ ईस्ट, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश (ईस्ट) और वेस्ट बंगाल सर्कल में हैं, जिनके पास नंबर पोर्ट करवाने का आखिरी मौका 31 अक्टूबर तक है। उसके बाद नंबर पोर्ट करवाना संभव नहीं होगा।

अपने मोबाइल नंबर को पोर्ट करना आसान है। अगर आप एयरसेल के यूजर्स हैं तो एयरटेल के 2जी और 3जी नेटवर्क को मैन्युअली सलेक्ट कर सेवा का लाभ उठाएं। अगर आप नेटवर्क सर्विस में जाकर नेटवर्क सलेक्ट नहीं करते हैं तो फोन में कोई सिग्नल नहीं दिखाई देगा।मैन्युअली नेटवर्क सलेक्ट करने के बाद मैसेज में जाकर टाइप करें PORT उसके बाद अपना एयरसेल मोबाइल नंबर टाइप करें और 1900 पर भेज दें। कुछ मिनट में आपके नंबर पर यूनिक पोर्टिंग कोड (UPC) आएगा। आप जिस टेलिकॉम सर्विस प्रोवाइडर की सेवा लेना चाहते हैं, उसके स्टोर पर जाएं और UPC कोड की मदद से आपका नंबर दूसरे नेटवर्क में पोर्ट हो जाएगा। इस पूरी प्रक्रिया में करीब एक सप्ताह का समय लगता है।
इस प्रक्रिया को अपनाने के बाद आप अपना एयरटेल का पुराना नंबर आगे भी बनाए रख सकते हैं अन्यथा 31 अक्टूबर के बाद ऐसा किया जाना संभव नहीं होगा जिस पर ट्राई ने प्रतिबंध लगा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *