दो दिवसीय राज्य स्तरीय शास्त्रीय स्पर्धा की शुरुआत

Spread the love

टिहरी। राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान के श्री रघुनाथ कीर्ति परिसर में दो दिवसीय राज्य स्तरीय शास्त्रीय स्पर्धा की शुरुआत हो गई है। शास्त्रीय स्पर्धा में श्रीमद्भागवत गीता कंठपाठ, अष्टाध्यायी, अमरकोश आदि प्रतियोगिता होंगी।गुरुवार को रघुनाथ कीर्ति परिसर देवप्रयाग में आयोजित राज्यस्तरीय शास्त्रीय स्पर्धा का शुभारंभ विधायक विनोद कंडारी ने किया। उन्होंने कहा कि संस्कृत ने पूरे विश्व में भारत के ज्ञान और बौद्धिकता की पहचान बनाई है। संस्कृत में रोजगार के बहुत अवसर हैं बशर्ते संस्कृत के छात्र-छात्राएं कड़ा परिश्रम कर पहले अपने आप को स्थापित करें। उन्होंने छात्र-छात्राओं से संस्कृत अध्ययन के साथ पर्यावरण संरक्षण में भी आगे आने का आह्वान किया। विदेश के लोग इसकी ओर आकर्षित हो रहे हैं। संस्कृत अध्ययन के प्रति विद्यार्थियों में लगातार रुचि बढ़ रही है। परिसर प्राचार्य प्रो. केबी सुब्बारायुडू ने राज्यस्तरीय शास्त्रीय स्पर्धा सस्कृत संस्थान में होने को गौरव की बात बताते कहा कि इससे छात्र छात्राओं को आगे बढऩे का अवसर मिलेगा। इस मौके पर डॉ. शैलेन्द्र उनियाल, प्रो. वनमाली विश्वाल, डॉ. कृपाशंकर शर्मा, डॉ. वीरेंद्र बर्त्वाल, डॉ. सुरेश शर्मा, डॉ. अरविंद गौर, डॉ. नितेश कुमार द्विवेदी,अवधेश बिजल्वाण, शशि ध्यानी, अशोक तिवारी, चंदाप्रसाद, धूम सिंह, पंकज कोटियाल, विजेंद्र बिष्ट, डॉ. युवराज शर्मा, केन्द्र सिंह आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *