दरिंदगी को अंजाम देने वाले यह चारों अपनी मौत से पहले बहुत रोये और गिड़गड़ाये

Spread the love

नई दिल्ली। निर्भया के चार दोषी फांसी के फंदे पर लटक चुके हैं, लेकिन इतनी बड़ी दरिंदगी को अंजाम देने वाले यह चारों अपनी मौत से पहले बहुत रोये और गिड़गड़ाये थे। मौत के दौरान इनके साथ क्या—क्या हुआ था। आइये डालते हैं एक नजर —

पवन गुप्ता ने की थी आत्महत्या की कोशिश, शरीर में मिले खतरनाक घावों के निशान
फांसी लगने से 12 घंटे पहले निर्भया के दरिंदों में से एक पवन गुप्ता ने आत्महत्या की कोशिश की थी। पोस्टमार्टम की शुरुआती रिपोर्ट में पता चला है कि उसने ब्लेड जैसे किसी धारदार हथियार से अपने बाएं हाथ की नसों को चार से पांच जगह काटा था। इसमें से दो-तीन निशान बहुत गहरे हैं और घाव देखकर बहुत ज्यादा खून बहने का अनुमान है। डॉक्टरों के मुताबिक, उसके सिर के दोनों ओर भी धारदार हथियार से हुए घाव मिले हैं। सिर में एक तरफ दो से तीन सेंटीमीटर और दूसरी तरफ छह से आठ सेंटीमीटर गहरे घाव मिले हैं। पोस्टमार्टम के दौरान घावों को देखने के लिए सिर के बालों को काटा गया। पवन के गले और पेट पर भी जगह-जगह खरोंच के निशान मिले हैं। जेल के सूत्रों ने बताया कि पवन ने आत्महत्या की कोशिश की, तो सुरक्षाकर्मियों ने मुश्किल से उसे काबू में किया। फिर वह मां से मिलने की जिद करने लगा तो फोन पर बात कराई गई।

मुकेश ने पेटभर खाया था, पेट से निकली चाउमिन
पोस्टमार्टम में पता चला कि मुकेश का पेट भरा हुआ था। गुरुवार रात चाउमिन और कुछ दूसरी चीजें उसने खाईं थी। बाकी तीनों कैदियों के पेट खाली थे। फांसी पर जाते समय वह शांत नजर आया।

विनय रात भर गिड़गिड़ाता रहा, कपड़े भी नहीं बदले
विनय गुरुवार को लगातार गिड़गिड़ाता रहा। वो रात भर राेया। कह रहा था मुझे मरना नहीं है। फांसी से पहले उसने कपड़े बदलने से भी इनकार कर दिया। उसने कहा-मेरा कुछ सामान है, जो घर भिजवा देना।

अक्षय ने खिचड़ी खाई और रातभर जागता रहा
अक्षय भी रातभर सो नहीं सका। वह रात भर सेल में घूमता रहा। वह जेल कर्मचारियों से बार-बार पूछ रहा था कि सुप्रीम कोर्ट का कोई आदेश आया क्या?

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *