ठगी करने वाले एक अंतरराज्यीय गिरोह का भंडाफोड़

Spread the love

देहरादून। राजधानी देहरादून की बसंत बिहार पुलिस ने ठगी करने वाले एक अंतरराज्यीय गिरोह का भंडाफोड़ किया है, इन्होंने विगत 19 जून को दो लाख की ठगी की थी। तभी से पुलिस को इनकी तलाश थी।
एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि बीती 19 जून को थाना बसंत विहार पर वादी दीवान बोरा पुत्र लक्ष्मण सिंह बोरा बदरी
पुर कालोनी, जोगीवाला, देहरादून द्वारा लिखित तहरीर दी गई कि दो व्यक्तियों द्वारा उसे कम कीमत में अधिक रकम के डॉलर देने का लालच देकर दो लाख ठग लिए। इस मामले में थाना बसंत विहार में मुकदमा दर्ज कराया गया था। इस पर पुलिस अधीक्षक नगर के निर्देशन व पर्यवेक्षण में व क्षेत्राधिकारी नगर के नेतृत्व में थाना बसंत विहार, थाना प्रेमनगर व कोतवाली नगर की संयुक्त टीम बनाकर अज्ञात अभियुक्तों की तलाश के प्रयास शुरू किये गये । पुलिस टीम द्वारा घटनास्थल के आस-पास के सीसीटीवी फुटेजों को खंगाला गया, सीसीटीवी फुटेजो में घटना कारित करने वाले दो सन्दिग्ध व्यक्ति दिखाई दिये, जिनकी तलाश हेतु मुखबिर तन्त्र सक्रिय किया गया तो द्वारा ज्ञात हुआ कि डॉलर बदलने के नाम पर धोखाधडी करने वाला एक सक्रिय गैंग शहर में एक्टिव है व अलग-अलग लोगो को डॉलर दिखाकर धोखाधडी से रूपये हडपने का प्रयास किया जा रहा है ।
इसी बीच शनिवार को पुलिस टीम को सूचना मिली कि उक्त गिरोह ठगी की इस प्रकार की घटना को अंजाम देने की फिराक में साधुराम इंटर कॉलेज के पास घूम रहे है, इस सूचना पर पुलिस टीम द्वारा साधुराम इंटर कॉलेज के पास से दो पुरूष व दो महिलाअन्य सदस्यों को 4-5 हजार रूपये देकर शेष सभी धनराशि को अपने पास लेकर फरार हो गये है । जिनकी तलाश की जा रही है । यह लोग बड़े ही शातिर आना ढंग से ठगी की घटनाओं को अंजाम दिया करते थे अभियुक्तगण दिल्ली से उच्च दरों पर करेंसी एक्सचेंज कर डॉलर प्राप्त करते थे तथा अलग-अलग राज्यों के शहरों में घूमकर लोगो से काम दिलाने के बहाने मुलाकात करते है एवं उनको अपने पास डॉलर दिखाकर उनकों सस्ते दामों पर रूपये देने हेतु बताते थे तथा डॉलर के बारे में बताते थे कि हमारी चाची किसी अंग्रेज के घर में काम करती थी, अंग्रेज की मृत्यु के बाद उस अंग्रेज के बिस्तर में से हमें यह डॉलर प्राप्त हुए है । फिर यह लोग अपने पास बहुत सारे डॉलर होने तथा रूपयों में सस्ते दरों पर बदलवाने हेतु लोगो को लालच देकर पहले 01 या 02 डॉलर को चैक कराने को कहते थे व जब व्यक्ति चैक कराकर डॉलर के सही होने की पुष्टी करता था तो व्यक्ति को बहुत सारे डॉलर सस्ते दामों पर देने हेतु एक से अधिक गलियो वाले रास्ते में मिलने के लिए बुलाते है ताकि घटना कारित कर अलग-अलग गली से भागनें में सफल हो सकें । अभियुक्त अपने बैग में रूमाल के अन्दर अखबार व कागज की डॉलरनुमा गड्डियां बाँधकर एवं बाहर से 04 या 05 डॉलर गड्डी के ऊपरी हिस्से में दिखाते है जिससे यह विश्वास हो सके कि उक्त गड्डी में डॉलर ही है। इस प्रकार यह लोग रूमाल से बंधी गड्डी को एक बैग मे रखकर लोगो को बैग सहित देकर उनके रूपये प्राप्त कर मौके से फरार हो जाते थे ।
वर्ष, रूबेल पुत्र मकसूद नि0 खटीक मौहल्ला महेन्द्रगढ, थाना महेन्द्रगढ जिला रासौर हरियाणा हाल पता बवाना रोड जे0जे0 कालोनी दिल्ली उम्र 22 वर्ष, सानिया बेगम पत्नी समीर चौधरी नि0 कनखन खेडा मितसपुरम म0न0 40 मेरठ हाल पता बवाना जे0जे0 कालोनी दिल्ली उम्र 28 वर्ष, मैना पत्नी रूबेल नि0 खटीक मौहल्ला महेन्द्रगढ, थाना महेन्द्रगढ जिला रासौर हरियाणा हाल पता बवाना रोड जे0जे0 कालोनी दिल्ली उम्र 24 वर्ष, रोयबिल पुत्र अब्दुल मजीद नि0 बवाना जे0जे0 कालोनी दिल्ली व हारून पुत्र अज्ञात नि0 बवाना जे0जे0 कालोनी दिल्ली उम्र 25 वर्ष, कुलसुम पत्नी हारून सेख उर्फ राजू नि0 बवाना जे0जे0 कालोनी दिल्ली उम्र 36 वर्ष, मर्जिना पत्नी रोबेल मूल निवासी भवाना जय कालोनी, थाना नरेला, पुरानी दिल्ली हाल पता- गुरूद्वारा के सामने रामलीला मैदान प्रेमनगर, दे0दून शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *