काशीपुर में बीती शाम महिला सहित आधा दर्जन से अधिक कार सवार लोगों के द्वारा एक फैक्ट्री कर्मी के अपहरण के मामले घटना में संलिप्त 5 अभियुक्तों को पुलिस पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

Spread the love

काशीपुर में बीती शाम महिला सहित आधा दर्जन से अधिक कार सवार लोगों के द्वारा एक फैक्ट्री कर्मी के अपहरण के मामले घटना में संलिप्त 5 अभियुक्तों को पुलिस पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया जबकि घटना में शामिल महिला समेत अपहरण का मुख्य अभियुक्त अभी पुलिस की पकड़ से बाहर है। पुलिस ने पकड़े गए अभियुक्तों के कब्जे से घटना में अपराधी भगवान से लूटे गए ₹10000 अपहृत युवक का पर्स आधार कार्ड एटीएम कार्ड व विजिटिंग कार्ड बरामद किए हैं शादी घटना में प्रयुक्त दो चार पहिया वाहनों को भी पुलिस ने बरामद किया

घटना का खुलासा अपर पुलिस अधीक्षक राजेश भट्ट ने अपने कार्यालय में किया। इस दौरान उन्होंने बताया कि 112 से कुछ लोगों के द्वारा एक फैक्ट्रिकर्मी के अपहरण की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस टीम के सीसीटीवी खंगालने पर दीपक कुमार के साथ कुछ लोगों के द्वारा मारपीट कर जबरदस्ती गाड़ी में डालकर ले जाने का पता चला, जिसके बाद आगे की कार्रवाई करते हुए अन्य सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के आधार पर टांडा उज्जैन क्षेत्र में अलीगंज रोड पर बाली पेट्रोल पंप के पास एक गोदाम के अंदर से 5 अभियुक्त तथा अपहृत युवक दीपक कुमार सकुशल बरामद कर लिया गया। महिला और घटना का मुख्य अभियुक्त अभी फरार हैं। पुलिस के द्वारा पकड़े गए अभियुक्तों ने पुलिस की पूछताछ में अपने नाम अमित कुमार पुत्र हरपाल सिंह निवासी ग्राम जमशेदपुर थाना डिलारी जनपद मुरादाबाद, सुनील सिंह पुत्र राजेंद्र सिंह निवासी छीना फार्म ढकिया गुलाबो काशीपुर, अंकित चौधरी पुत्र बलबीर सिंह निवासी A/161 न्यू आवास विकास काशीपुर, विशाल भारद्वाज पुत्र कुलदीप भारद्वाज निवासी सरोजिनी नगर अलीगंज रोड काशीपुर और अशोक ठाकुर पुत्र वेद प्रकाश निवासी खड़कपुर देवीपुरा थाना आईटीआई काशीपुर बताया। घटना का मास्टरमाइंड मनोज चौधरी पुत्र ओंकार सिंह निवासी आवास विकास काशीपुर तथा उसकी साथी प्रियंका चौहान निवासी कलश मंडप के पास थाना काशीपुर अभी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। पुलिस ने गिरफ्तार किए गए पांचों अभियुक्तों के कब्जे से दीपक कुमार से लूटे गए ₹10000 तथा उसका पर्स, आधार कार्ड, एटीएम कार्ड और विजिटिंग कार्ड भी बरामद किए हैं। इसके साथ ही साथ पुलिस ने घटना में प्रयुक्त तीन में से दो चौपहिया वाहन जिसमें क्रेटा कार संख्या UK 18L 3190 तथा महिंद्रा एसयूवी संख्या HR 36R 8181 भी बरामद की है।

दरअसल मूलरूप से उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले के थाना धामपुर निवासी के गांव मोजमपुर निवासी शिखा रानी पत्नी दीपक कुमार ने देर रात पुलिस को दी तहरीर के माध्यम से बताया कि उसका पति दीपक विश्वनाथ पेपर मिल हलदुआ चौराहा में काम करता है। बीती देर शाम दीपक काम से वापस लौट रहा था कि मोहल्ले के पास ही एक महिला समेत पांच लोगों ने दीपक का अपहरण कर लिया। शिखा ने बताया कि वह मौके पर मौजूद नहीं थी उसकी पड़ोसन नूतन चौहान पत्नी राजेन्द्र सिंह फोन पर उसे सूचना दी। नूतन ने ही 112 नम्बर पर पुलिस को सूचना दी। अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अपह्रत दीपक के मुताबिक घटना के फरार मुख्य अभियुक्त मनोज चौधरी और उसकी साथी महिला प्रियंका चौहान आपस में मिलकर पेपर मिलों में केमिकल की सप्लाई करते हैं तथा अपना निम्न क्वालिटी के केमिकल की विश्वनाथ पेपर मिल में खरीददारी के लिए दीपक कुमार पर लगातार दबाव बना रहे थे और इसलिए ही उसका अपहरण किया गया। घटना में शामिल महिला प्रियंका चौहान के बारे में अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि प्रियंका चौहान केमिकल प्लांट की मालकिन है और उसी के कहने पर ही दीपक पर यह दबाव बनाया जा रहा था। मनोज चौधरी और प्रियंका चौहान की गिरफ्तारी के बाद घटना से सम्बंधित और भी खुलासे हो सकते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *