कार्तिक पूर्णिमा स्नान कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर प्रशासन ने स्थगित कर दिया

Spread the love

हरिद्वार। 30 नवंबर को होने वाले कार्तिक पूर्णिमा स्नान कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर प्रशासन ने स्थगित कर दिया हैं। कई राज्यों से आने वाले यात्रियों की भीड़ काे विभिन्न घाटों पर एकत्रित होने से रोके जाने के लिए प्रशासन ने यह फैसला लिया हैं।

इस गंगा स्नान पर्व के दौरान दिल्ली, पंजाब, हरियाणा व हिमाचल प्रदेश सहित अन्य राज्यों से लाखों की संख्या में गंगा स्नान आते है। हरिद्वार में पूर्व के कार्तिक स्नान पर्व पर लाखों श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़ के आंकड़े यही दर्शाते है कि कार्तिक पूर्णिमा का स्नान खासा महत्वपूर्ण स्नान हैं। कार्तिक पूर्णिमा स्नान के स्थगित किए जाने को लेकर हरिद्वार डीएम ने आदेश जारी किए हैं।

जिला अधिकारी ने अपने आदेशों में बताया कि जनपद में कोविड-19 के संक्रमण की वृद्धि को रोकने तथा जन सुरक्षा एवं स्वास्थ्य के दृष्टिगत भारी जन समुदाय को एक स्थान पर एकत्रित होने से रोके जाने के लिए प्रशासन ने यह निर्णय लिया है।

कोविड-19 एवं भारत सरकार द्वारा जारी गाईडलाईन्स के अनुरूप हरिद्वार में 30 नवंबर को होने वाले कार्तिक पूर्णिमा स्नान को स्थगित किया है। इसी के साथ जिलाधिकारी सी.रविशंकर ने आदेशों का उल्लंघन करने वाले लोगों के खिलाफ महामारी अधिनियम व आपदा प्रबंधन  के प्राविधानों के तहत कारवाई सुनिश्चित किए जाने के आदेश जारी किए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *