उत्तराखंड की सियासत से दूर हुए भगत सिंह कोश्यारी

Spread the love

सियासत के किरदार से

उत्तराखंड की सियासत से दूर हुए भगत सिंह कोश्यारी का उत्तराखंड में लम्बे समय बाद आगमन हुआ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत आवास पर पहुंचे लम्बी बातचीत का सिलसिला दोनों के बीच चला सियासी बातें हुई फिर लम्बा अनुभव भी साझा किया गया सियासत के सफर में भगत सिंह कोश्यारी उत्तराखंड में एक बड़े नेता में शुमार किये जाते रहे है उनका अपना राजनैतिक वजूद उत्तराखंड की सियासत में रहा है गवर्नर बनाये जाने के बाद भगत सिंह कोश्यारी उत्तराखंड की सियासत से दूर हो गए लेकिन उनका मन उत्तराखंड में रहा यही वजह है जब भी उत्तराखंड की तरफ आते है तो राजनैतिक समीकरण का हवाला देकर राजनैतिक बातें फिर से गरम होती रही

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शनिवार को देर सांय महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से उनके डिफेंस कॉलोनी देहरादून स्थित आवास पर शिष्टाचार भेंट की। उन्होंने प्रदेश से सम्बन्धित विभिन्न समसामयिक विषयों पर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से चर्चा की। महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी शनिवार को दो दिनों के लिए उत्तराखंड पहुंचे है सोमवार को वो वापिसी चले जायेगे उनकी उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुलाकात के राजनैतिक मायने भी निकाले जा रहे है लेकिन ऐसा कुछ भी दूर दूर तक नज़र नहीं आता।

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी इन दिनों चर्चा में रहे है उनका चर्चा का केंद्र महाराष्ट्र की सियासत में दखल के बाद नज़र आया था उनके एक पत्र ने राजनैतिक उफान पर सियासत को रखा जिसकी वजह वो बीजेपी के बड़े नेताओं की सियासत में दखल करते हुए नज़र आए जिसका नतीजा रहा महाराष्ट्र में उनके दखल को राजनैतिक मुद्दा भी बनाया गया।

लेकिन इसके बाद भी भगत सिंह कोश्यारी लगातार सविधान के दायरे में अपना काम बखूबी करते रहे बरहाल उनका उत्तराखंड की सियासत आगमन पर राजनैतिक मायने कोई नयी कहानी का किरदार निभाए जाने का क्लीमेक्स दिखाएंगे इसकी चर्चा राजनैतिक गलियारों में चल रही है जिसका वजन भारी नज़र नहीं आता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *