अपने बीमार पिता को #गुरुग्राम से #दरभंगा_बिहार तक #साइकिल चलाकर पहुँची थी अर्जुन_मिश्रा के हवस शिकार बनाकर किया मर्डर

Spread the love

अपने बीमार पिता को #गुरुग्राम से #दरभंगा_बिहार तक #साइकिल चलाकर पहुँची थी अर्जुन_मिश्रा के हवस शिकार  बनाकर किया मर्डर 

#JusticeForJyotiPaswan

यही वो नाम है जो आज से करीब दो महीने पहले लॉकडाउन में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प की बेटी #इवांका के ट्विटर_हैंडल पर चमका था ओर अपने बीमार पिता को #गुरुग्राम से #दरभंगा_बिहार तक #साइकिल चलाकर पहुँची थी।
इनाम की बौछारें ही बौछारें राजनेताओं और समाज सेवकों का जमवाड़ा! लेकिन अब…… चारो तरफ सन्नाटा😢
यहां-वहां जहां-तहां दरभंगा का जिक्र होते ही ज्योति पासवान का नाम पहले आ जाता था, हर बिहारी के #ट्विटर, #फेसबुक हैंडल पर बस ज्योति और उसके पिता की वो साइकिल वाली तस्वीरें लग गई थी, इक पूरा मीडिया सेल उसके पीछे लगा, #सांसद, #विधायकों का तो मानो पूरा मजमा लग गया था। उस बच्ची के पीछे, हर कोई उसे अपने पार्टी के झंडे के नीचे लाना चाहते थे, और उसका कारनामा भी क्या गज़ब था, सरकार की सब से बड़ी विफलता में उसने अपनी जीवन बड़ी सफलता हासिल कर ली थी।
और
आज 3 महीने बाद फिर से दरभंगा चर्चा में नाम भी वही

#ज्योति_पासवान_2.

आज किसी #अर्जुन_मिश्रा के हवस शिकार हुई 15 बरस की #ज्योति_पासवान… और क्यों?? क्योंकि ज्योति उस अर्जुन मिश्रा के बगीचे में आम चुनने के लिए गई थी और उसने 15 बरस की बच्ची के साथ दुराचार किया और फिर हसिए से गले को रेत दिया!!

और ये एक अख़बार के छोटे से कोने की खबर बनकर रह गई! ना तो सोशल मीडिया पर #Justice_for_jyoti वाले हैशटैग का सैलाब आया और हमारे देश की #महान_मीडिया तो अब कुछ बस लेह और #लद्दाख के ट्रिप पर ही रहेंगी!!

अब नज़रे केवल #दरभंगा वालों को देख रही हैं….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *